item-thumbnail

ओडीशा में बीजद के दिन लदे

0 March 7, 2017

पंचायत चुनावों का तो यही संदेश : कांग्रेस साफ, बीजद कमजोर, और भाजपा का जोर बढ़ ओडीशा के स्थानीय निकाय चुनावों में भाजपा की अप्रत्याशित चुनावी जीत ने र...

item-thumbnail

राष्ट्रीय महिला संसद महिला अधिकारों के लिए अनोखी पहल

0 March 7, 2017

आंध्र प्रदेश की नई नवेली राजधानी अमरावती पिछले दिनों रंगों से गुलजार थी। गोदावरी और कृष्णा नदियों को जोडऩे की पहली नदी परियोजना के पवित्र संगम पर ऐसा ...

item-thumbnail

अभिनवगुप्त शैवदर्शन और शैव सिद्धांत के सबसे बड़े प्रतिपादक : श्रीश्री रविशंकर

0 February 19, 2017

विदेशों में आचार्य अभिनवगुप्त पर काम हो रहा है, लेकिन हमने उन्हें भुला दिया। हमारा दायित्व है कि आचार्य अभिनवगुप्त के संदर्भ में शोध आधारित कार्य से ह...

item-thumbnail

उदय इंडिया सदैव दिव्यांगों के साथ

0 February 8, 2017

आशा और निराशा दोनों का अद्भुत संगम अगर किसी की आंखों में स्वच्छ झलक दिखाता है तो उनको हम दिव्यांग कह सकते हैं। आज के विकसित भारत में हम निराशा की बात ...

item-thumbnail

वाइब्रेंट गुजरात शिखर सम्मेलन 2017: एक शानदार सफलता

0 January 26, 2017

सुर की लहरियों पर तैरता ‘जय-जय गर्वी गुजरात’ का कोरस-गान जैसे ही अपने चरम पर पहुंचा, गीत में मग्न प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अंगुलियां ...

item-thumbnail

सारनाथ में अंतरराष्ट्रीय बौद्ध सक्वमेलन बुद्ध के उपदेशों में शांति की तलाश

0 October 21, 2016

हिंसा, आतंक और दमघोंटू  माहौल के जिस मुहाने पर आज दुनिया खड़ी है, उससे उबरने का रास्ता आज भी भगवान बुद्ध ही सुझा सकते हैं। शांति, सद्भाव और मानवीय प्र...

item-thumbnail

भारत वैभव के लिए दीनदयाल जी के 7 आदर्श एकरसता, कर्मठता, समानता, संपन्नता, ज्ञान, सुख और शान्ति

0 October 21, 2016

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने नई दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित ‘पंडित दीनदयाल उपाध्याय: सम्पूर्ण वांङमय’ का लोकार्पण किया और इस अवसर पर ...

item-thumbnail

पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जन्मशताद्ब्रदी कालीकट में मनाई गयी एकात्म मानव दर्शन हो हमारा ध्येय: मोदी

0 October 6, 2016

एकात्म मानवदर्शन के प्रणेता पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 100वीं जयंती 25 सितंबर को मनाई गयी। चूंकि दीनदयाल उपाध्याय भाजपा के राजनीतिक-वैचारिक अधिष्ठाता ह...

item-thumbnail

नरेन्द्र भाई बनाम बनारसी भैया

0 September 8, 2016

काशी में एक नारा बहुत पॉपुलर है-‘हर-हर महादेव’। हर खुशी के मौके पर यह नारा लगाया जाता है। बनारसी लोग अल्हादित होने पर यह नारा लगाते हैं। किसी को...

item-thumbnail

काशी बुला रही है

0 August 12, 2016

यूं तो काशी (बनारस) अपनी प्राचीनता के अतिरिक्त धर्म, दर्शन, अध्यात्म और सांस्कृतिक विरासत के लिए पूरी दुनिया के लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र रहा है,...

1 2 3 6