item-thumbnail

एक अबूझ पहेली

0 October 5, 2017

करण जौहर बॉलीवुड के बड़े निर्देशकों में से एक है। ऐसा माना जाता है कि करण जौहर को सबसे अधिक युवा वर्ग पसंद करता है। करण ने हाल  ही में अपने जीवन पर आध...

item-thumbnail

जीवन एक भूमिका

0 September 22, 2017

जीवन और मरण इस ब्राह्मांड की मुख्य संरचनाओं का एक अटूट भाग है। हम सभी प्राणी प्रभु द्वारा रची गई लीलाओं के कुछ किरेदारों में से एक हैं। प्रत्येक व्यक्...

item-thumbnail

नौकरशाही का मकडज़ाल

0 September 6, 2017

भारत के संस्थापकों ने एक ऐसे देश का स्वप्न देखा था, जहां दूध की नदियां बहती हों। लेकिन देश के पास इसके लिए संसाधन नहीं थे और सरकार के पास इसे साकार कर...

item-thumbnail

विज्ञान से विकास

0 August 24, 2017

आविष्कार और खोज रचनात्मक मन-मस्तिष्क का सृजनात्मक परिणाम हैं। ऐसे मन-मस्तिष्क के धरातल पर इस दिशा में निरंतर क्रिया-व्यापार चलता रहता है तथा परिणाम की...

item-thumbnail

आधुनिक युग में भेदभाव बेकार

0 July 28, 2017

दलित साहित्य का मुख्य केंद्र बिंदु मनुष्य है। दलित साहित्य का मुख्य ल्क्ष्य मनुष्य का उत्थान करना है। भारत में जाति व्यवस्था की ऐतिहासिक पृष्ठभूमि जित...

item-thumbnail

जगूड़ी का जादू

0 July 13, 2017

लीलाधर जगूड़ी के जीवन और कविताओं पर आधारित ‘आता ही होगा कोई नया मोड़’ का संपादन प्रमोद कौंसवाल ने किया है। इसमें कई लेखकों ने उनकी कविताओं पर अपने विच...

item-thumbnail

जिंदगी के कई रंग

0 June 29, 2017

‘बस इतना’ कीर्तिकुमार सिंह के द्वारा लिखी गई है। यह किताब लघुकथाओं की संग्रह है, जिसे उन्होंने गुणात्मक और परिमाणात्मक, दोनों दृष्टियों से अत्यंत समृद...

item-thumbnail

जिंदगी एक रंगमंच

0 June 15, 2017

रवींद्र कुमार दास के ‘प्रजा में कोई असंतोष नहीं’ शीर्षक कविता संकलन में सरल भाषा, मुहावरा और खास लहजा पाठक को आकर्षित करता है। इनकी कविताएं भले ही आज ...

1 2 3 10