item-thumbnail

महायोगी पायलट बाबा; विमान उड़ाने से संन्यासी बनने तक का सफरनामा

0 March 22, 2017

भारत की भूमि संतों की भूमि रही है। संतों का व्यक्तित्व एवं उनकी आध्यात्मिक यात्रा लोगों के लिये सदा आकर्षण एवं प्रेरणा का केन्द्र रही है। देश और दुनिय...

item-thumbnail

डॉ. प्रणव पांडया भारतीय संस्कृति की धरोहर

0 March 7, 2017

इस संसार में प्राय: लोग साधारण लक्ष्य और साधारण कार्य करते हुए अपने जीवन को पूरा कर देते हैं। लेकिन इसी भीड़ में कुछ लोग असाधारण ऊर्जा, असाधारण उल्लास...

item-thumbnail

दलाई लामा अहिंसक क्रांति के महायोद्धा

0 February 19, 2017

यह एक विडम्बना ही है कि अंतरिक्ष से लेकर सागर तक की शक्तियों का दोहन करने वाला समर्थ मानव आज जितना बेचैन, असुरक्षित, भयाक्रांत है और अपने को अकेला महस...

item-thumbnail

दीदी मां साध्वी ऋतम्भरा सिंहनी होकर भी ममता और करुणा का महासागर

0 February 8, 2017

जीवन जीना सामान्य बात है। अध्यात्मपूर्ण जीवन जीना महत्वपूर्ण एवं विशिष्ट बात है। भारत की संस्कृति आध्यात्मिक महापुरुषों की समृद्ध धरोहर है, इनमे अध्या...

item-thumbnail

आचार्य सुधांशुजी महाराज परमात्मा का रास्ता बताने वाले संत

0 January 26, 2017

विकास ऊध्र्वारोहण की प्रक्रिया है। बीज उगता है तब बरगद बन विश्राम लेता है। दीए की बाती जलती है तब सबको उजाले बांटती है। समन्दर का पानी भाप बन ऊंचा उठत...

item-thumbnail

सद्गुरू जग्गी वासुदेव प्राचीन मूल्यों को नए परिधान देने वाले संत

0 January 11, 2017

प्रकाश की यात्रा करने वाला कोई भी मनुष्य अपनी मुट्ठी में सूरज का बिम्ब लेकर जन्म नहीं लेता। अमृत की आकांक्षा रखने वाला कोई भी आदमी अगम्य लोगों में घर ...

item-thumbnail

गोपालकृष्ण गोस्वामी श्रीकृष्ण भक्ति के शिखर पुरूष

0 December 29, 2016

श्रीकृष्ण के इस लोकनायक चरित्र ने ही उन्हें सार्वभौमिक लोकप्रियता प्रदान की। संसार की अधिकांश भाषाओं में गीता के अनुवाद के साथ कृष्ण की लीलाओं का यशोग...

item-thumbnail

अवधूत बाबा शिवानंदजी तेजस्विता की ऊंची मीनार

0 December 16, 2016

यह भारत का सौभाग्य है कि यहां की रत्नगर्भा माटी में महापुरुषों को पैदा करने की शोहरत प्राप्त है। ज्ञात इतिहास के पन्नों पर दृष्टिपात करते हैं, तो ऐसे ...

item-thumbnail

मुनि तरुणसागर क्रांतिकारी राष्ट्रसंत

0 December 1, 2016

भारत का इतिहास संतों और मुनियों की गौरवमयी गाथाओं से भरा है। इस देश की धरती पर अनेक तीर्थंकर, अवतार, महापुरुष एवं संतपुरुष अवतरित हुए जिन्होंने अपने व...

item-thumbnail

आचार्य विजय रत्नसुंदरसूरि संत-साहित्य के पुरोधा

0 November 4, 2016

भारतीय ऋषि परम्परा एवं संस्कृति में साहित्य का विशेष महत्व है क्योंकि शब्दों का सीधा प्रभाव व्यक्ति के जीवन पर पड़ता है। भारत की साहित्यिक परंपरा में ...

1 2