item-thumbnail

आर्थिक आजादी में हम फिसड्डी क्यों?

0 March 7, 2017

देश के कई अर्थशास्त्री मानते हैं कि आजादी के बाद देश को केवल राजनीतिक आजादी मिली मगर आर्थिक आजादी नहीं। लाइसेंस कोटा व्यवस्था के कारण देश में उद्योग ध...

item-thumbnail

खोखली नीतियों ने कर दी अर्थव्यवस्था बरबाद

0 September 28, 2013

तेल और सोने की बात तो दूर जब रेत, गिलास जैसी मामूली चीजें भी आयात की जा रही हों तो रुपए पर संकट क्यों नहीं आएगा। कोयला तो भारत में बहुत है। फिर भी उसक...

item-thumbnail

‘अर्थ’ का अनर्थ हुआ

0 September 21, 2013

मौजूदा आर्थिक परिस्थितियों के मद्देनजर आम आदमी को किसी प्रकार की राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। महंगाई जल्द कम नहीं होगी। ब्याज दरों के घटने की भी कोई ...

item-thumbnail

देश को चाहिए राष्ट्रवादी अर्थशास्त्र

0 September 14, 2013

सच यह था कि 2004-2007 कालखंड में विश्व की सभी गतिशील अर्थव्यवस्थाएं उपर उठीं। यही ‘कपल्ड इफेक्ट’ था कि हमने भी अच्छा प्रदर्शन किया। पर उसका सारा...

item-thumbnail

ग्रामीणों में है आकर्षण इफ्को-टोकियो का

0 June 29, 2013

राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना के बेहतर क्रियान्वयन के लिए इफको-टोकियो के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी योगेश लोहिया को सम्मानित करते हुए ...

item-thumbnail

सोना कितना सोणा है

0 May 11, 2013

सोना, हमेशा से ही भारतीयों के दिल के करीब रहा है। धार्मिक पर्व हो, शादी-ब्याह या फिर कोई अन्य अवसर हो। सोना खरीदना और सोने के गहने पहनना भारतीयों के ल...