item-thumbnail

देश का बहुरूपिया प्रजातांत्रिक ढांचा

0 July 13, 2017

प्रजातन्त्र में, प्रशासनिक प्रणाली नियम-कानून और संविधान से चलेगी या वातावरण, प्रदर्शन और सामाजिक दबाव से। यह प्रश्न रामराज्य में भी उतना ही महत्वपूर्...

item-thumbnail

छद्मयुद्ध का जवाब छद्मयुद्ध

0 October 21, 2016

अगर शांति चाहते हैं तो युद्ध की तैयारी कीजिए। यह वाक्य कुछ अमन की आशा का राग लापनेवालों को भले ही बुरा लगे मगर व्यावहारिक जीवन में कितना सटीक है यह इस...

item-thumbnail

ओडिशा में मोदी-लहर नाकाम क्यों?

0 June 29, 2014

राज्य के लोगों ने आक्रामक मोदी लहर देखी और अनुमान लगाया कि देश के अन्य क्षेत्रों की तरह ओडिशा की लोकसभा सीटों पर भी भाजपा को एकतरफा वोट मिलेंगे। ऐसी स...

item-thumbnail

सेक्स अपराधों पर रोक के लिए जरूरी है वेश्यावृत्ति को कानूनी मान्यता

0 January 25, 2014

सेक्स मनुष्य की बुनियादी जरूरत है। भूख के बाद सेक्स, मनुष्य की सबसे प्रमुख वृत्ति है। सेक्स की इस अपमानजनक और बदसूरत अभिव्यक्ति को रोकने के लिए, हमें ...

item-thumbnail

खुला पत्र नरेन्द्र मोदी के नाम

0 January 18, 2014

प्रिय मोदी जी, देश के मौजूदा राजनीतिक विन्यासों के संबंध में कुछ नीतिपरक सुझावों के साथ मुझे अपने विचारों को रखने की अनुमति दें। मैं पूरी तरह से महसूस...

item-thumbnail

बीजेपी उहा-पोह में: येदि के साथ मिल सकता है बीजेपी का हाथ

0 June 15, 2013

उतराखंड, हिमाचल प्रदेश और अब कर्नाटक में बीजेपी की हार । कांग्रेस की अगुवाई वाली यूपीए सरकार के खिलाफ इतने खराब माहौल के बाद भी विधानसभा चुनावों में म...

item-thumbnail

“आत्मघाती” नीतीश कुमार

0 May 4, 2013

राजग की ओर से प्रधानमंत्री पद के लिए नरेन्द्र मोदी को उम्मीदवार बनाये जाने की संभावना जैसे-जैसे बढ़ती जा रही हैए वैसे-वैसे बिहार में सियासी घमासान बढ़...