item-thumbnail

सड़क पर दौड़ती मौत

0 October 22, 2017

हमारे देश में प्रतिवर्ष लगभग डेढ़ लाख व्यक्ति सड़क दुर्घटनाओं का शिकार हो कर मौत के आगोश में चले जाते हैं। सड़कों पर मौत वाहनों के रूप में दौड़ती रहती...

item-thumbnail

तारिक फतह के खिलाफ क्यों हैं कट्टरपंथी मुसलमान?

0 April 5, 2017

बरेली की एक संस्था ऑल इण्डिया फैजान-ए-मदीना काउन्सिल के अध्यक्ष मुईन सिद्दीकी नूरी ने जी टीवी के ‘फतह का फतवा’ कार्यक्रम को पेश करनेवाले पाकिस्तानी मू...

item-thumbnail

प्राकृतिक आपदाओं में शोध की आवश्यकता

0 February 19, 2017

मौसम में आकस्मिक परिवर्तनों से लेकर भारी वर्षा, बाढ़, भूकम्प और सुनामी जैसी भयंकर प्राकृतिक आपदाएं हमेशा बहुत बड़ी संख्या में जान और माल की क्षति कर द...

item-thumbnail

ये हैं असली नायिकाएं

0 February 8, 2017

भंसाली का कहना है कि पद्मावती एक काल्पनिक पात्र है। इतिहास की अगर बात की जाए तो राजपूताना इतिहास में चित्तौड़ की रानी पद्मिनी का नाम बहुत ही आदर और मा...

item-thumbnail

कट्टरपंथियों को सरकार का साथ

0 January 11, 2017

कोलकाता से सटे हावड़ा जिले के धूलागढ़ में उग्र  मानसिकता वाले अल्पसंख्यक सुमदाय के कुछ लोगों ने वहां के स्थानीय हिंदुओं पर जानलेवा हमला किया और उनके घ...

item-thumbnail

विमुद्रीकरण का भारत की अर्थव्यवस्था पर प्रभाव

0 December 16, 2016

कार्ल माक्र्स के अनुसार पूंजी की धुरी पर तन्त्र घूमता है। सयम और शुचिता का विश्व को संदेश देने वाले भारत में यह कथन चरितार्थ हो रहा था। लगता था कि सभी...

item-thumbnail

शबाब पर पशु तस्करी

0 August 26, 2016

जाली नोटों के साथ भारत और बांग्लादेश के बीच पशु तस्करी का अवैध कारोबार भी पूरे जोरों पर है। इस गैरकानूनी कारोबार में कई बड़े गिरोह सक्रिय हैं। गिरोह म...

item-thumbnail

चुनावी बिसात का मोहरा बना कैराना

0 July 1, 2016

उत्तर प्रदेश में अगले साल चुनाव होने वाले हैं। हर पार्टी सबसे बड़ी आबादी वाले इस प्रदेश के तख्त पर अपने दावे के साथ चुनाव अभियान शुरू कर चुकी है। पूरे...

item-thumbnail

घुसपैठ के घातक अंजाम

0 June 17, 2016

किसी देश की शांति और स्थिरता उसके सामाजिक और आर्थिक संसाधनों पर सबकी सहज पहुंच पर ही निर्भर रहती है। परन्तु संसाधन की एक नियति है कि वह अपने ऊपर एक हद...

1 2 3